Sidhu Shayari for Sunil Shetty and Johnny Lever in Comedy Nights

Sidhu-Sunit-Shetty-Johny-Kapil-Sharma-in-Comedy-NightsHansi na mehengi hai, Na hansi sasti hai
iss hansi mein hi saari duniya basati hai
iss hansi ko, hansi samjhke na udaa dena dosto
ladki bhi tabhi fansti hai, jab hansti hai!!

Aakash ki koi seema nahin
Prithvi ka koi tol nahin
Saadhu ki koi jaat nahin
Aur paras (Sunil Shetty) ka
koi tol nahin, koi mol nahin

Jaa rahe hain lekin laut ke aate rahein
Hasya ki mehfil sajaate rahein
Paise to hum sab ne kamaye hain bahut
hindustan ki duaaein kamate rahein

[expand title=”Click to Read in Hindi”]

हंसी ना महंगी है, ना हंसी सस्ती है
इस हंसी में ही सारी दुनिया बसती है
इस हंसी को, हंसी समझके ना उड़ा देना दोस्तों
लड़की भी तभी फंसती है, जब हंसती है!!

आकाश की कोई सीमा नहीं
पृथ्वी का कोई तोल नहीं
साधू की कोई जात नहीं
और पारस (सुनील शेट्टी) का
कोई तोल नहीं, कोई मोल नहीं

जा रहे हैं लेकिन लौट के आते रहे
हास्य कि महफ़िल सजाते रहे
पैसे तो हम सब ने कमाए हैं बहुत
हिंदुस्तान की दुआएं कमाते रहे

[/expand]